Connect with us

Tech

टर्मिनेटर जीन प्रौद्योगिकी : प्रकृति से ख़तरनाक खिलवाड़

इस तकनीक के अनुसार, किसी भी पौधे में कुछ इस प्रकार के जीन डाले जा सकते हैं जिससे उस पौधे की अच्छी फसल तो प्राप्त की जा सकेगी, परंतु इसके बीज नई पौधे देने में अक्षम होंगे

Published

on

हम सभी जानते हैं कि किसी बीज को अनुकूल उपजाऊ भूमि में बोने से पौधा अंकुरित होता है। यह पौधा अपनी प्रजाति के पौधों का विस्तार करने में सक्षम बीजों का उत्पादन करता है। वस्तुत:, बीज से पौधा और पौधे से पुन: बीज प्राप्त करने का यह चक्र सदियों से यों ही चलता आया है, परंतु 3 मार्च, 1998 को अमेरिका में पंजीकृत कराए गए एक पेटेंट में प्रकृति के इस चक्र को रोकने का प्रावधान है। ‘डेल्टा एंड पाइनलैंड’ कंपनी तथा अमेरिकी कृषि विभाग द्वारा कराए गए पेटेंट में पौधों में जीन अभिव्यक्ति को नियंत्रित करने का तरीका पंजीकृत कराया गया है।

इस तकनीक के अनुसार, किसी भी पौधे में कुछ इस प्रकार के जीन डाले जा सकते हैं जिससे उस पौधे की अच्छी फसल तो प्राप्त की जा सकेगी, परंतु इसके बीज नई पौधे देने में अक्षम होंगे, अर्थात टर्मिनेटर जीन क्या है ? उत्तर – अमरीकी वैज्ञानिकों द्वारा विकसित इस टर्मिनेटर जीन को यदि किसी बीज में डाल दिया जाए , तो वह इसकी प्रजनन क्षमता के स्विच को बन्द कर देता है . इस बीज से उत्पन्न फसल तो सामान्य होती है , परन्तु इस फसल से लिए गए बीजों से यदि अगली फसल उगाई जाती है , तो उस फसल के पौधों में दाने नहीं निकल पाते हैं ….

Continue Reading
Advertisement #####
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2021. IQFUNDA. All Rights Reserved.